Rangat , Andaman and nicobar islands town

SHARE:

जरावा क्षेत्र से निकलने पर आराम सा लग रहा था । हम ऐसे खुश थे जैसे जेल से निकल आये हों । एक बहुत बडा बंधन था । ज...



Rangat , andaman

जरावा क्षेत्र से निकलने पर आराम सा लग रहा था हम ऐसे खुश थे जैसे जेल से निकल आये हों एक बहुत बडा बंधन था जो भी कुछ रास्ते में आये उसका फोटो लेने की कोशिश भी नही कर सकते जबकि देखने के लिये भी जरावा आदिवासी बस एक झलक भर मिले थे  

बारातांग में हमें मड वोलकिनो यानि कीचड का ज्वालामुखी भी देखने का चांस था पर मैने मना कर दिया असल में अंडमान जाने से पहले जितना भी मैने यहां के बारे में पढा उसमें 99 प्रतिशत मड वालकिनो के बारे में निगेटिव था लोगो ने इस जगह के बारे में बताया और फोटो भी दिये कि ये जगह समय खराब करने के अलावा कुछ नही है सुनामी के आने के बाद यहां पर ये ज्वालामुखी दिखायी दिया और कुछ सालो तक अच्छे से रहा भी लेकिन अब वहां पर समतल जमीन पर कुछ कीचड फैला है इसलिये मै पहले से ही मन बना चुका था कि हमें मड वोलकिनो देखने नही जाना है वैसे हमने पूछा भी यहां के लोगो से कि वहां तक जाने का रास्ता कैसा है तो उन्होने बताया कि वहां तक जाने के लिये आपको जीप में जाना पडेगा जो कि पूरी गाडी के 450 रूपये लेगा यहां पर ये रूपये गाडी के हैं ना कि प्रति व्यक्ति के

450 रूपये देकर करीब आठ से नौ किलोमीटर तक आपको जाना होगा तब वो मड वोलकिनो देखने को मिलेगा यहां पर ये बताने लायक बात है कि जो मैने इंटरनेट पर पढा और बाद में जिसकी पुष्टि वहां के लोकल लोगो ने भी की कि बारातांग के बजाय डिगलीपुर का मड वोलकिनो कुछ हद तक देखने लायक है लेकिन लाइमस्टोन गुफाऐं बारातांग की ही देखने लायक हैं बारातांग में केवल एक गुफा को ही खोला गया है जो कि जाने लायक है डिगलीपुर में 41 लाइमस्टोन गुफाऐ हैं जिनमें से दो तीन में ही मुश्किल से जाना सम्भव है और वो भी काफी खतरनाक फिसलन भरी हैं इसलिये जब भी आप यहां का कार्यक्रम बनाये तो बारातांग के मड वोलकिनो को छोड दें और लाइमस्टोन गुफा यहां की जरूर देखें  

अब हमने जो बस पकडी थी उसमें सीट नही थी जबकि हमारा सफर करीब 70 किलोमीटर का था उत्तरा जेटटी तक तो सीट मिलने की कोई जगह नही थी यहां पर हमने रंगत की बस के 145 रूपये किराया दिया था सुबह पर अब हमें रंगत जाने के लिये दोबारा किराया देना था यहां से रंगत तक का किराया 80 रूपये लिया कंडक्टर महोदय ने उत्तरा जेटटी से उतरने के थोडी देर बाद एक सवारी पीछे से उतर गयी जिस पर हमने अपने बुजुर्ग साथी राजेश सहरावत जी को बिठा दिया रंगत तक का सफर काफी बढिया था  

हमने रंगत की बस के कंडक्टर से बात करनी शुरू की असल में पहले कंडक्टर के पास एक लडकी बैठी थी और हम खिडकी में खडे हुए थे उत्तरा जेटटी से उतरने के बाद पता नही उस लडकी को क्या हुआ कि वो कंडक्टर के बराबर वाली सीट छोडकर पीछे चली गयी उसने सीट किसी से बदल ली थी मैने तो कोई छेडछाड भी नही की थी जाट देवता पर भी मुझे पूरा यकीन था कि उन्होने भी नही की होगी हमने तो उसे घूरा तक नही पर उसका रवैया अजीब सा था पर उसके इस रवैये से हमें ये फायदा हुआ कि हमारी कंडक्टर महोदय से खुलकर बात हुई कंडक्टर महोदय मूल रूप से तमिल थे और अपनी पैदाईश से यहीं के निवासी थे उन्होने हमें अंडमान के बारे में भी बताया और अपनेे परिवार के बारे में भी काफी बाते की हमने उनसे उनकी नौकरी के बारे में बात की तो उन्होने बताया कि उन्हे 16000 के करीब सैलरी मिलती है उनका घर पोर्ट ब्लेयर में है लेकिन अभी उनका तबादला मायाबंदर डिपो में कर दिया गया है इसलिये वो अब परिवार सहित मायाबंदर में गये है यहां पर सरकार रहने के लिये घर जरूर देती है तो उन्होने वो घर किराये पर दे दिया है  

ज्यादातर यहां पर आठ घंटे की डयूटी है उन्होने हमें कई जरूरी बाते भी बतायी और हर अंडमानी की तरह अपने अंडमान की तारीफ में भी कोई कसर नही छोडी खैर जब हमारी बस रंगत के बस स्टैंड पर पहुंची तो यहां का बस स्टैंड देखकर मै हैरान रह गया यहां पर सडके भले ही छोटी हों पर बस स्टैंड बडा और आधुनिक था वाशरूम , एलसीडी , बैठने के लिये सैकडो कुर्सिया , कैंटीन वो भी एमआरपी पर , वाटर कूलर और हर सुविधा यहां पर थी हमने करीब दस मिनट यहां पर गुजारे

Rangat , andaman

Rangat , andaman

Rangat , andaman

Rangat , andaman

Rangat , andaman

Rangat , andaman

Rangat , andaman

Rangat , andaman

Rangat , andaman

Rangat , andaman



mangrove walk dhani nala rangat andaman

हमने कंडक्टर को अपनी आगामी योजना के बारे में बताया कि हमें वापसी में रंगत से जेटटी पकडकर हैवलाक जाना है तो उन्होने हमें बताया कि रंगत बस अडडे से थोडी ही दूरी पर रंगत की जेटटी का आफिस है और जब हमने अपने होटल के बारे में बताया तो उन्होने कहा कि ये होटल रंगत से करीब 15 किलोमीटर दूर है


बस यहीं पर हम गलती कर गये बस रंगत बस स्टैंड पर रूकी तो हम यहां पर उतरे और कुछ देर के बाद बस आगे के लिये चली तो हम भी उसी में रहे जब हम रंगत बस स्टैंड पर पहुंचे तो करीब चार बजे थे हमने सवा दो बजे बस पकडी थी ढाई बजे हम फेरी में थे आज शनिवार का दिन था और कल जेटटी का आफिस बंद रहने वाला था इसका मतलब ये था कि हमें कल टिकट नही मिलेंगे और परसो हम रंगत में नही रहेंगे बल्कि डिगलीपुर पहुंच जायेंगे तो हमें फिर टिकट डिगलीपुर से लेने होंगें  

अगर हम रंगत में उतर जाते तो शायद हमें रंगत वाली जेटटी के टिकट मिल जाते जो कि हमारे लिये आधा दिन बचा लेते पर जो होना होता है वही होता है और फिर ये टिकट लेने के लिये हमें डिगलीपुर ही जाना पडा  

रंगत एक बीच का प्वांइट है पोर्ट ब्लेयर से डिगलीपुर तक की 325 किलोमीटर की दूरी में ये पोर्ट ब्लेयर से करीब 170 किलोमीटर दूर है हमारा आज रात का रिजर्वेशन अंडमान टूरिज्म के होटल हवाबील नेस्ट में था जो कि रंगत से 15 किलोमीटर दूर था और इस बार बस वाले ने 25 रूपये किराया और लिया पहले वाले 80 रूपये के अलावा प्रति व्यक्ति का  
ये किराया ज्यादा था क्येांकि ये गाडी एक्सप्रेस थी यहां रंगत से मायाबंदर तक के लिये और दूसरी साइड में उत्तरा जेटटी तक के लिये लोकल बसे काफी चलती हैं और उनमें किराया भी कम है  

रंगत से अपने होटल तक जाने के रास्ते में रंगत से निकलने के बाद सडक के साथ साथ समंद गया था और साथ ही बडे बढिया नजारे भी दिखने लगे थे कई साइट ऐसी आयी जो कि देखने में बडी सुंदर लग रही थी और इनमें से हालांकि एक दो के बारे में ही पढा था लेकिन बाकी को देखने की ठान ली थी बडी राम राम करके होटल आया जो कि बिलकुल जंगल में कहना ठीक होगा सडक किनारे तो था लेकिन रंगत जैसे कस्बे से 15 किलोमीटर दूर इसे बनाने का क्या मकसद रहा होगा समझ नही आया

शाम के 5 बजे हम अपने होटल हवाबील नेस्ट में पहुंच गये थे बस ने हमें होटल के बिलकुल सामने उतारा तो हम ये देखकर चौंक गये कि सिवाय एक दो घर और एक चाय की दुकान के यहां पर कुछ नही था सामने समंदर किनारा भी नही था कि यहां की सरकार ने बहुत बढिया लोकेशन देखी हो और यहां पर होटल बनाया हो  

हमने जो गलती रंगत में कर दी थी वो अब परेशान कर रही थी हम होटल के रिसेप्शन पर पहुंचे और यहां पर हमें एक लेडी और एक आदमी मिले जिन्होने हमसे होटल बुकिंग की पर्ची लेकर कमरा तो दे दिया पर जब हमने तीसरे आदमी के लिये एक एक्स्ट्रा गददे की बात कही तो उन्होने उसका चार्ज 150 रूपये एक्सट्रा बताया उन्होने रात के खाने के लिये भी पूछा तो हमने उसके लिये आर्डर दे दिया  

हमने रंगत की जेटटी के टिकट के बारे में पूछा तो महाशय को पता ही नही था यहां तक कि उनको ये भी पता नही था कि जेटटी का आफिस रविवार को खुलता भी है कि नही जेटटी के आफिस जाने का अब कोई फायदा टिकट में तो नही था पर इतना जरूर था कि हमें फेरी के समय और कुछ और बातो का पता चल सकता था हमने रिसेप्शन पर पूछा तो उन्होने बताया कि अभी एक लोकल बस आने वाली है और आप उसमें रंगत तक जा सकते हो हमने अपना सामान कमरे में रखा और हम सडक पर जल्दी से गये हमारी बस को आने में अभी दस मिनट थे और दस मिनट में ही जाट देवता का इरादा बदल गया  

अभी शाम का समय हो चुका था और रंगत से आने में हमें अंधेरा हो जाना था मैने एक और जगह के बारे में पढा था धनी नाला जो कि रंगत में ही था हमने सामने दिख रही एक दुकान पर पूछा तो उसने बताया कि धनी नाला यहां से करीब एक किलोमीटर दूर ही है बस इरादा पूरी तरह बदल गया अब पहले धनी नाला देखने चलना है जिस दुकान पर हम बैठै थे वहां पर समोसे दिखायी दे गये हमने समोसे खाने शुरू कर दिये इस बीच बताये गये समय पर ही लोकल बस आयी हम बस की टाईमिंग देखकर हैरान थे समोसे खाकर हम पैदल ही चल दिये रास्ते में फोटो सेशन भी चलता रहा

mangrove walk dhani nala rangat andaman

mangrove walk dhani nala rangat andaman

mangrove walk dhani nala rangat andaman

mangrove walk dhani nala rangat andaman

mangrove walk dhani nala rangat andaman

mangrove walk dhani nala rangat andaman

mangrove walk dhani nala rangat andaman

mangrove walk dhani nala rangat andaman

mangrove walk dhani nala rangat andaman

mangrove walk dhani nala rangat andaman

mangrove walk dhani nala rangat andaman

mangrove walk dhani nala rangat andaman

mangrove walk dhani nala rangat andaman

mangrove walk dhani nala rangat andaman

mangrove walk dhani nala rangat andaman





Dhani nala beach rangat

एक तमिल मंदिर मिला जिसमें शाम के समय की आरती तमिल भाषा में चल रही थी हालांकि हम उस मंदिर में जरूर जाते पर समय तेजी से जा रहा था और अंधेरे का समय हो चला था हमें धनी नाला में एक किलोमीटर की पैदल यात्रा भी करनी थी जो कि कुछ तो समय लेती ही इसलिये हमने मंदिर का लालच छोडा और तेजी से चलते रहे हम एक किलोमीटर से ज्यादा चुके थे सडक के मील के पत्थर को देखकर हमें पक्का था पर धनी नाला का कोई लक्षण नही दिख रहा था रास्ते में एक दो राहगीरो से पूछा तो उन्होने बताया कि सीधे हाथ पर एक गेट बना दिखायी देगा वही धनी नाला है


ये जगह करीब दो किलोमीटर दूर थी और जब वो गेट आया जिसके सामने सडक पर एक बोर्ड भी लगा था तो हमें पता नही था कि अभी तीन चार सौ मीटर और चलना होगा और फिर इतना चलने के बाद बोर्ड आया जो कि इस धनी नाला नाम की जगह का मेन एंट्रेस है   


धनी नाला नाम की जगह एक ईको टूरिज्म का बढिया उदाहरण है यहां पर मैनग्रोव के जंगल हैं और उनमें मैनग्रोव की अनेक प्रजातिया हैं हर प्रजाति को हम कैसे जान सकते हैं तो अगर मैनग्रोव के बारे में जानकारी लेनी हो तो इससे बढिया कोई जगह नही हो सकती है यहां पर मैनग्रोव के जंगल में उसकी सब प्रजातियो पर उनके नाम लिखे हैं और बिना किसी पेड या उसकी जडो को नुकसान पहुंचाये बिना यहां पर एक किलोमीटर लंबा पुल बनाया गया है जिसके बीच बीच में बैठने के लिये सुंदर हट बनी हुई हैं वैसे एक किलोमीटर कोई लम्बी दूरी नही होती पर कुछ लोगो के लिये हो सकती है रास्ते में एक नाला मिला जिसका नाम झींगा नाला है और यहां पर आते ही झींगुर बडे जोर जोर से बोलने लगे  

एक किलामीटर की वाक पूरी होने के बाद पुल समाप्त हो गया और उसके बाद थोडा कच्चा रास्ता आया इस वक्त तक यहां जंगल में अंधेरा हो गया था और यहां पर ईको टूरिज्म के रूप में बैठने के लिये बैंच बनायी गयी हैं यहां पर जो पेड गिर जाते हैं या सुनामी के दौरान उखड गये थे उन्ही में कलाकारी करके बैठने के लिये तैयार किया गया है यहां तक कि डस्टबिन भी उन्ही की बनायी गयी हैं


करीब पचास मीटर की दूरी तक जंगल और कच्चा रास्ता पार करने के बाद सामने ही बीच था बीच उतना शानदार तो नही था कि बहुत तारीफ की जाये पर सुनसान और ज्यादा भीडभाड भरा ना होने के कारण अच्छा भी लग रहा था बस कम भीडभाड वाले बीच पर अक्सर ये दिक्कत होती है कि वहां पर पर्यटक या समंदर जो गंदगी फैला भी देता है तो उसे साफ करने की कोई गुंजाइश नही होती या अगर होती भी होगी तो कई कई दिन बाद होती होगी  

बीच पर फोटो सेशन करने के बाद हम वापस अपने होटल की ओर चल दिये चलने के समय बिलकुल अंधेरा हो चुका था और हमने राजेश जी के साथ थोडी डरावनी हरकते करनी शुरू कर दी थी पर वे डरे नही उसके बाद हम होटल में पहुंचे और वहां पर खाने के लिये पूछा तो उन्होने बताया कि खाना तैयार है हमारे अलावा होटल में एक ग्रुप था जिसमें लोकल मुस्लिम दो परिवार थे उनके साथ बच्चे भी थे हमने खाना खाया और सो गये सुबह उठकर हमें घूमने की तैयारी भी करनी थी



Dhani nala beach rangat

Dhani nala beach rangat

Dhani nala beach rangat

Dhani nala beach rangat

Dhani nala beach rangat

Dhani nala beach rangat

Dhani nala beach rangat

Dhani nala beach rangat

Dhani nala beach rangat


Dhani nala beach rangat

Dhani nala beach rangat

Dhani nala beach rangat

Dhani nala beach rangat



aamkunj beach rangat , andaman ,आमकुंज बीच , रंगत , अंडमान
आमकुंज बीच रंगत का मेन बीच है । यहां पर बीच तो काफी सुंदर है ही पर साथ ही सुंदर है उन अधिकारियो की तुलना जिनकी कल्पना ने इस बीच की सुंदरता में चार चांद लगा दिये हैं और इसे बीच के साथ साथ एक पार्क भी बना दिया है ​जो कि लोकल लोगो और पर्यटको दोनो को ही पसंद आता है ।

यहां पर समु्द्र के किनारे पडे पेडो और सुनामी के द्धारा उखाडे गये पेडो जो कि ऐसे ही बेकार पडे थे उन्हे हाथियो के द्धारा उठवाकर यहां पर लाया गया और इन्हे ऐसा रूप दिया गया कि ये सालो साल यहां पर ऐसे ही पर्यटको का मनोरंजन भी करेंगे और फोटो खिंचवाने के काम भी आयेंगें । आप यकीन नही करेंगे कि इन्हे बनाने में किसी भी पेड को काटा नही गया है और बैंच से लेकर डस्टबिन तक सब इन्ही से बनायी गयी हैं । मजे की बात ये है कि इनको ​किसी मैंटीनेन्स या रिपेयर की भी कभी जरूरत नही होगी ।

स्टूल और बैंचे खडी बादाम नाम के पेड की जडो से बनायी गयीi हैं । ये बीच सडक से सौ मीटर की दूरी पर है और यहां के लिये लोकल बस भी चलती है

वैसे इस समय तक यहां पर काफी धूप आ जानी चाहिये थी पर चूंकि मौसम बारिश का बन रहा था इसलिये अभी सूर्योदय जैसा नजारा था । हमने बीच पर काफी मस्ती की और जाट देवता और राजेश जी ने वहां पर मिले एक सूखे नारियल का बैलेंस करके अपना अनुभव दिखाया । एक नाविक ने हमारे सामने ही वहां पर रखी नाव निकाली और समंदर में अपनी रोजी रोटी कमाने के लिये निकल गया । पलक झपकते ही वो गहरे सागर में उतर चुका था । हमने इस बीच पर काफी समय बिताया । यहां रंगत में हमारा घूमना ऐसा था जैसे कछुए और खरगोश में से कछुए की चाल । इसी बात पर मुझे कछुए और खरगोश वाली कहानी याद आ गयी जो मैने यहां पर पढी थी 


aamkunj beach rangat , andaman ,आमकुंज बीच , रंगत , अंडमान
aamkunj beach rangat , andaman ,आमकुंज बीच , रंगत , अंडमान
aamkunj beach rangat , andaman ,आमकुंज बीच , रंगत , अंडमान
ये महाशय छुप गये
aamkunj beach rangat , andaman ,आमकुंज बीच , रंगत , अंडमान
aamkunj beach rangat , andaman ,आमकुंज बीच , रंगत , अंडमान
aamkunj beach rangat , andaman ,आमकुंज बीच , रंगत , अंडमान
aamkunj beach rangat , andaman ,आमकुंज बीच , रंगत , अंडमान
ये चले रोजगार की तलाश में
aamkunj beach rangat , andaman ,आमकुंज बीच , रंगत , अंडमान
aamkunj beach rangat , andaman ,आमकुंज बीच , रंगत , अंडमान
aamkunj beach rangat , andaman ,आमकुंज बीच , रंगत , अंडमान
rajesh kumar sahrawat
rajesh kumar sahrawat
sandeep panwar urf jaat devta
sandeep panwar urf jaat devta
aamkunj beach rangat , andaman ,आमकुंज बीच , रंगत , अंडमान
aamkunj beach rangat , andaman ,आमकुंज बीच , रंगत , अंडमान
aamkunj beach rangat , andaman ,आमकुंज बीच , रंगत , अंडमान
aamkunj beach rangat , andaman ,आमकुंज बीच , रंगत , अंडमान
aamkunj beach rangat , andaman ,आमकुंज बीच , रंगत , अंडमान
aamkunj beach rangat , andaman ,आमकुंज बीच , रंगत , अंडमान

COMMENTS

नाम

अंडमान निकोबार,10,Andaman and nikobar,10,Port Blair,2,Rangat,1,Travel guide,1,
ltr
item
Roaming around : Rangat , Andaman and nicobar islands town
Rangat , Andaman and nicobar islands town
https://1.bp.blogspot.com/-YYDD83qKPOQ/XvyEiKpZLjI/AAAAAAABiCg/VTe7dLdCByQLsSVif_pj7jvwM4U9LUMCgCK4BGAsYHg/w640-h276/Rangat%2B%252C%2Bandaman.JPG
https://1.bp.blogspot.com/-YYDD83qKPOQ/XvyEiKpZLjI/AAAAAAABiCg/VTe7dLdCByQLsSVif_pj7jvwM4U9LUMCgCK4BGAsYHg/s72-w640-c-h276/Rangat%2B%252C%2Bandaman.JPG
Roaming around
https://www.roamingaround.in/2020/07/rangat-andaman-and-nicobar-islands-town.html
https://www.roamingaround.in/
https://www.roamingaround.in/
https://www.roamingaround.in/2020/07/rangat-andaman-and-nicobar-islands-town.html
true
2149940506185352508
UTF-8
Loaded All Posts Not found any posts VIEW ALL Readmore Reply Cancel reply Delete By Home PAGES POSTS View All RECOMMENDED FOR YOU LABEL ARCHIVE SEARCH ALL POSTS Not found any post match with your request Back Home Sunday Monday Tuesday Wednesday Thursday Friday Saturday Sun Mon Tue Wed Thu Fri Sat January February March April May June July August September October November December Jan Feb Mar Apr May Jun Jul Aug Sep Oct Nov Dec just now 1 minute ago $$1$$ minutes ago 1 hour ago $$1$$ hours ago Yesterday $$1$$ days ago $$1$$ weeks ago more than 5 weeks ago Followers Follow THIS PREMIUM CONTENT IS LOCKED STEP 1: Share to a social network STEP 2: Click the link on your social network Copy All Code Select All Code All codes were copied to your clipboard Can not copy the codes / texts, please press [CTRL]+[C] (or CMD+C with Mac) to copy Table of Content